खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"आप का क्या बिगड़ता है" शब्द से संबंधित परिणाम

आप का क्या बिगड़ता है

आप को क्या आपत्ति है, आप का क्या नुक़्सान या हानि होता है, आप को क्यों नागवार है

आप का क्या लेता हूँ

रुक : आप का क्या बिगड़ता है

आप का मुँह है

आप का पास है

आप का मुलाहज़ा है

रुक : आप का पास है

आप का है

मक़सूद ये होता है कि (ये माल) मेरा है लकिन ख़ुलूस अवार इत्तिहाद ज़ाहिर करने के लिए कहता हैं कि आप का है

आप का घर कहाँ है

जो शख़्स बेवक़ूफ़ों की सी बातें करता है इस से कहते हैं मतलब ये होता है कि आप बड़े नादान हैं

आप में क्या शाख़-ए-ज़ा'फ़रान लगी है

आप में की दुनिया भर से निराली बात है, आप में की ख़ुसूसीयत है (जो औरों में नहीं

आप का क्या लेता है

रुक : आप का क्या बिगड़ता है

जो बात है सो ख़ूब है क्या बात है आप की

आप ख़ुद बेमिसल अवार आप की हर बात बेमिसाल है, तनज़्ज़ा कहते हैं

क्या मुँह का निवाला है

क्या कोई आसान काम है, ये काम मुश्किल है देर तलब है, ये काम कुछ आसान नहीं है

आदमी क्या है, सरांचे का बाँस है

बहुत लंबा आदमी है, बहुत लंबे आदमी पर उपहास है

आप का क्या जाता है

आप का क्या बिगड़ता है

आप का क्या पूछना है

संबोधन करने वाला बहुत ही मूर्ख है, बेवक़ूफ़ है

क्या सर्राफ़े का टका है

मुफ़्त का माल समझ कर बेदिरेग़ ख़र्च करना किसी तरह मुनासिब नहीं, बलामहनत हासिल करदा सरमाया सही लेकिन ये फुज़ूलखर्ची मुनासिब नहीं

क्या साँप का पाँव देखा है

जब कोई असंभव बात हो तो यह कहावत कहते हैं

नौकरी क्या है ख़ाला जी का घर है

रुक : नौकरी ख़ाला जी का घर नहीं

क्या ज़िंदगी का भरोसा है

ज़िंदगी का कुछ एतबार नहीं

क्या सुरख़ाब का पर लगा है

क्या आप को कोई फ़ज़ीलत-ए-ख़ास हासिल हुई है, क्या कोई निराली या नायाप चीज़ है

आप का बायाँ क़दम किधर है

किसी की चालाकी फ़ित्नाप रदाज़ी या शरारत के मौक़ा पर मुस्तामल, मुतरादिफ़ : आप बड़े चालाक हैं

आप की क्या बात है

बहुत मूर्ख हैं, बड़े बेवक़ूफ़ हैं

आप ही का है

अजुज़-ओ-इन्किसार या तवाज़ो के मुतरादिफ़ : मेरा है

वो क्या किसी का ख़ुदा है

हम उस से नहीं डरते, हम उस की परवाह नहीं करते, उस से कोई नहीं डरता

आप का पास है

आप के लिहाज़ और मुरव्वत से (ऐसा करने या ना करने हर) मजबूर हूँ

क्या गूँगे का गुड़ खाया है

क्यूँ नहीं बोलते, क्यूँ ख़ामोशी इख़्तियार की है, किस लिए गूँगे से बिन गए हो

क्या तुम्हारे सुर्ख़ाब का पर लगा है

करना और ख़ुदा का क्या होता है

क्या भरोसा है ज़िंदगानी का, आदमी बुलबुला है पानी का

मनुष्य का जीवन पानी के बुलबुले के प्रकार नश्वर है, जीवन पर कोई विश्वास नहीं, पानी के बुलबुले के प्रकार न जाने कब नष्ट हो जाए

आप ही की जूतियों का सदक़ा है

आप ही की कृपा है, आप ही का वसीला है, आप ही की कृपा से सब है, विनम्रता के लिए प्रयुक्त

मर्द का क्या है एक जूती पहनी एक उतार दी

मर्द जब चाहे औरत को तलाक़ दे दे, मर्द के नज़दीक औरत की हैसियत जूती की सी है

आप का घर है

इस जगह या घर को अपना ही समझिए, निसंकोच या खुलकर रहिए

अभी क्या है ख़ुदा आप को बहुत से दिन सलामत रखे

बड़े बदज़ात हो

किसी का क्या है

किसी का क्या इजारा है

क्या गोमती का पानी पिया है

सामान्यतया उस व्यक्ति के संबंधित कहते हैं जो महिलाओं जैसी बातें करता है

क्या दाल भात का निवाला है

आसान काम नहीं है, कोई मामूली बात नहीं है

क्या तमाशे की बात है जिस का जाए वो चोर कहलाए

जिस का नुक़्सान हो इस के सर इल्ज़ाम हो, पुलिस वाले जब चोरी का सुराग़ ना मिले तो ये साबित करने की कोशिश करते हैं कि मुद्दई ने माल इधर उधर कर दिया

किसी का क्या जाता है

किसी का क्या नुक़्सान होता, किसी का कुछ ज़रर नहीं होता, किसी का कुछ नहीं बिगड़ता, किसी का कोई ज़बां नहीं होता

क्या दम का भरोसा है

ज़िंदगी का कोई एतबार नहीं

जीने का क्या भरोसा है

बावा का क्या इजारा है

किसी को भी हमारे कार्यों को रोकने का अधिकार नहीं है

क़तरा का चूका घड़े ढलकाए तो क्या होता है

काम का वक़्त निकल जाने के बाद लाख तदबीर कीजीए मगर कोई फ़ाइद नहीं होता

घर में जोरू का नाम बहू बेगम रख लेने से क्या होता है

अपनी इज़्ज़त अपने मुँह से नहीं हुआ करती

काया माया का क्या भरोसा है

ज़िंदगी और दौलत का कोई एतबार नहीं

दुनिया का अभी क्या देखा है

कमउमर है, ना तजरबाकार है, बच्चा है

अपनी गिरह का क्या जाता है

अपनी क्या हानि होगी, अपनी कोई हानि नहीं है

तेरे बाप का क्या इजारा है

तो क्यों दख़ल देता है, तो दख़ल देने वाला कौन

बाप का क्या बेटे के आगे आता है

बाप के आमाल बद का ख़मयाज़ा बेटे को भुगतना पड़ता है

दोस क्या दीजिए चोर को साहब, बंद जब आप घर का दर न किया

जब ख़ुद हिफ़ाज़त नहीं की तो चोर का क्या क़सूर

चार पाँव का घोड़ा चौंकता है, दो पाँव का आदमी क्या बला है

आदमी के लिए ठोकर खाना साधारण बात है, आदमी से भूल-चूक हो जाती है

आप गाते क्या हैं

आप का मक़सद किया है, आप क्या कहना चाहते हैं

कोठी कुठले को हाथ न लगाओ, घर बार आप का है

ज़बानी बहुत हमदर्दी मगर कुछ देने को तैय्यार नहीं, क़ीमती चीज़ अपने क़बज़ा में, फ़ुज़ूल चीज़ों से दूसरों को ख़ुश करना होतो कहते हैं

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में आप का क्या बिगड़ता है के अर्थदेखिए

आप का क्या बिगड़ता है

aap kaa kiiaa biga.Dtaa haiآپ کا کیْا بِگَڑتا ہے

वाक्य

आप का क्या बिगड़ता है के हिंदी अर्थ

 

  • आप को क्या आपत्ति है, आप का क्या नुक़्सान या हानि होता है, आप को क्यों नागवार है
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

آپ کا کیْا بِگَڑتا ہے کے اردو معانی

 

  • آپ کا کیا ہرج ہے، آپ کا کیا نقصان ہوتا ہے، آپ کو کیوں ناگوار ہے

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (आप का क्या बिगड़ता है)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

आप का क्या बिगड़ता है

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words