खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"हाथ मुँह में सुलूक है" शब्द से संबंधित परिणाम

हाथ मुँह में सुलूक है

आपस में मिल कर खाते हैं, मिल कर खाते कमाते हैं; आपस में अच्छा बरताव रखते हैं

हाथ मुँह में सुलूक होना

मुँह का निवाला मुँह में , हाथ का हाथ में रह गया

मुँह का मुँह में, हाथ का हाथ में निवाला रह गया

सुनते ही होश उड़ गए, आश्चर्य का मोहौल छा गया

मुँह का मुँह में हाथ का हाथ में निवाला रह गया

मुँह में ज़बान है

मुँह में ज़बान है

कहने और बोलने की ताक़त है, जवाब देने के काबिल हैं

हाथ पाँव में सनीचर है

पांव में चक्कर है , नहूसत है

क्या मुँह में पंजीरी भरी है

बोलते क्यूँ नहीं, चुप क्यूँ हो

हाथ पैर में सनीचर है

मनहूस है, बहुत नहस है

हमारे मुँह में भी ज़बान है

ख़ुदा के हाथ में है

रुक : ख़ुदा के हाथ

क्या काँटों में हाथ पड़ता है

क्या ऐब लगता है, क्या नुक़्सान होता है

मुँह में ज़बान हलाल है

मुँह में ज़बान हलाल है

मुँह में ज़बान सच्च बोलने के लिए है अगर (झूट की तरह) हराम होती तो मुँह में ना रहती, सच्च कहो, इंसाफ़ लगती कहो

काले के मुँह में उँगली हाथ देना

ऐसा काम करना जिस में जान का ख़तरा हो, जानबूझ कर ख़तरा मूल लेना

शेर के मुँह में हाथ देना

अपनी जान ख़तरे में डालना, अपना जीवन जोखिम में डालना

कया मुँह में पंजीरी भरी है

बोलते क्यों नहीं, क्यों चुप हो

मुँह में साबून घुला हुआ है

मुँह फीका और बदमज़ा है

काले के मुँह में हाथ देना

ऐसा काम करना जिस में जान का ख़तरा हो, जानबूझ कर ख़तरा मूल लेना

जो मुँह में आता है बक जाता है

हमाहमी मुँह में भी ज़बान है

रुक : हमारे भी मुँह में ज़बान है , हम भी इस सवाल का जवाब दे सकते हैं, हम भी बात करने की क़ुदरत रखते हैं

हमारा मुँह में भी ज़बान है

हम भी इस सवाल का जवाब दे सकते हैं, हम भी बात करने की क़ुदरत रखते हैं

हमाहमी भी मुँह में ज़बान है

हमें भी जवाब देना आता है , रुक : हमारे मुँह में भी ज़बान है

दमड़ी में मुँह लाल है

अझ़दहे के मुँह में हाथ देना

हाथ पाँव की काहिली और मुँह में मूँछें जाएँ

इतना काहिल है कि मुँह पर से मूंछें भी नहीं हटाता, बहुत काहिल है

टका हो जिस के हाथ में वो बड़ा है ज़ात में

मालदारी आदमी को बड़ी जाति का बना देती है, पैसे वाले का ही सम्मान सब जगह होता है

झूटे के मुँह में बू आती है

झूटा ख़ुदबख़ुद पहचान लिया जाता है, झूट की मज़म्मत में कहते हैं

दुनिया में मुँह देखे की मुहब्बत है

दिली प्रेम कम होता है, सामने आ कर प्रेम जताते हैं

मार किए जाओ फ़तह-ओ-शिकस्त तो ख़ुदा के हाथ में है

कोशिश करनी चाहिए परिणाम चाहे कुछ हो

कहने से बात पराई होती है, कहने को मुँह में ज़बान रखते हैं

सवाल का जवाब दे सकते हैं

जिस के मुँह में चावल होते हैं वो ख़ूब चबा-चबा कर बातें करता है

जिसके पास धन होता है वह बहुत घमंड से बातें करता है

चोर की जोरू कोने में मुँह दे कर रोती है

बेचारी चोर की पत्नी को हर समय अपने पति के पकड़े जाने की चिंता होती है

जिस के मुँह में चावल होते हैं वो चबा चबा कर बातें करता है

जिस के पास दौलत होती है वही इतराता है

जिस के मुँह में चावल होते हैं वो चबा चबा कर ख़ूब बातें करता है

जो दिल में है वही ज़बान पर, जो दिल में है वही मुँह पर

मारते का हाथ पकड़ा जा सकता है कहते का मुँह नहीं पकड़ा जाता

बदज़बान की ज़बान नहीं रोकी जा सकती, किसी को कोई बात कहने से नहीं रोका जा सकता

मारते का हाथ पकड़ा जाता है कहते का मुँह नहीं पकड़ा जाता

लेने-देने के मुँह में ख़ाक मोहब्बत बड़ी चीज़ है

जब कोई कुछ माँगे तो कंजूस कहते हैं

हाथ में चक्की का पाट है

हमाक़त की बात है (एक शहज़ादे के क़िस्से में मज़कूर है कि बादशाह ने अँगूठी मुट्ठी में बंद कर के इशारे दिए और पूछा कि बताओ मुट्ठी में किया है तो इस ने कहा चक्की का पाट है)

क्या मुँह में घूँगनियाँ हैं

रुक : क्या मुंह में पंजीरी भरी है

तुम्हारे मुँह में कै दाँत हैं

तुम कौन हो, तुम्हें क्या हक़ या इख़तियार है, तुम्हारी क्या औक़ात या हैसियत है (कोई रोक टोक या पूछगिछ ना हो तो इस मौक़ा पर कहते हैं)

मुँह में कै दाँत हैं

क्या ताक़त है, क्या कर सकते हो

काल के मुँह में सब हैं

सब को मौत आकर रहती है

कहने को मुँह में ज़बान रखते हैं

सवाल का जवाब दे सकते हैं, जैसा कहोगे वैसा सुनोगे , बराए नाम ज़बान है, गोयाई के काबिल नहीं

कोई नहीं पूछता कि तुम्हारे मुँह में कितने दाँत हैं

ये भी किसी ने नहीं पूछा कि तेरी मुँह में कितने दाँत हैं

जहां किसी की कोई पूछगिछ और ख़ातिर तवाज़ो ना हो वहां ये मुहावरा बोलते हैं

ये भी किसी ने न पूछा कि तेरी मुँह में कितने दाँत हैं

जहां किसी की कोई पूछगिछ और ख़ातिर तवाज़ो ना हो वहां ये मुहावरा बोलते हैं

कोई नहीं पूछ्ता कि तेरे मुँह में कै दाँत हैं

बहुत शांति का ज़माना है, किसी तरह की पूछताछ नहीं

मारते के हाथ पकड़े जाते हैं कहते का मुँह नहीं पकड़ा जाता

मुँहफट की ज़बान नहीं रोकी जा सकती, किसी को कोई बात कहने से नहीं रोका जा सकता

हाथी के मुँह में लकड़ी पकड़ाते हैं

प्रभावशाली को माल देकर वापस लेना चाहते हैं, ज़बरदस्त का मुक़ाबला करते हैं, शक्तिशाली को धोका देने की कोशिश करते हैं

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में हाथ मुँह में सुलूक है के अर्थदेखिए

हाथ मुँह में सुलूक है

haath mu.nh me.n suluuk haiہاتھ مُنھ میں سُلُوک ہے

वाक्य

हाथ मुँह में सुलूक है के हिंदी अर्थ

  • आपस में मिल कर खाते हैं, मिल कर खाते कमाते हैं; आपस में अच्छा बरताव रखते हैं

ہاتھ مُنھ میں سُلُوک ہے کے اردو معانی

  • آپس میں مل کر کھاتے ہیں ، مل کر کھاتے کماتے ہیں ؛ آپس میں اچھا برتاؤ رکھتے ہیں

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (हाथ मुँह में सुलूक है)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

हाथ मुँह में सुलूक है

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone