खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"संग-ए-माही" शब्द से संबंधित परिणाम

संग-ए-माही

जलीय प्राणी के उस वंश को कहते हैं जिनकी पीठ पत्थर की भाँति कठोर होती है

ख़ाना-ए-माही

नदी तालाब आदि, जहाँ मछलियाँ रहती हों

ख़ार-ए-माही

फ़ल्स-ए-माही

मछली के सिने, शल्क, सकल

तेग़-ए-माही

ख़त्त-ए-माही

संग-ए-सर-ए-माही

एक प्रकार का पत्थर जो बड़ी मछली के सर से निकलता है और दवा के काम आता है।

माही-दहाँ

माही-दंदाँ

माही-ख़ोर

मछली खानेवाला, मुराद : बगुला, बूतीमार, मत्स्यभक्षी

माही-ज़ेर-ए-ज़मीं

माही-ख़ाना

रेग-ए-माही

एक प्रकार की मछली जो रेत में पैदा होती है और दवा में चलती है, सक़न्कूर।।

माही-ख़्वार

सग-ए-माही

माही-पसंदा

माही-गीरंदा

पूरण-माही

गोश-ए-माही

धोंघा, सीप, पियाला

शिकार-ए-माही

मछली मारना, मछली का शिकार खेलना

शैर-ए-माही

एक बहुत बड़ी मछली।

सरेशम-ए-माही

एक विशेष मछली का बना हुआ सिरेश जो दवा के काम आता है और राज़रोग, अर्थात् तपेदिक़ की बहुत अच्छी दवा है

माही-ए-बे-आब

माही-ए-बे-आब

बिना पानी की मछली, जलहीन मीन, अर्थात् बहुत दुखी, बहुत व्याकुल

ख़ार-माही-तरीक़ा

माही-गीर-बंद

माही-दंदान

एक विशेष प्रकार का मछली का दाँत जिस से तलवार की मूठ बनाते हैं

माही-ज़मीं

माही-फ़रोश

मछली बेचने वाला, मछली का व्यावसाय करने वाला

ख़ार-माही-बंदिश

माही-तड़प

हमसरी-ए-अहल-ए-जहाँ

ये

यह सब, सर्वनाम 'यह' का बहुवचन

ये

बा'इस-ए-आराम-ए-रग-ए-जाँ

हिकमत-ए-ए-क़ौली

हुजूम-ए-राह-ए-रवाँ

जुर्म-ए-क़ाबिल-ए-फाँसी

ये देखिए

रूह-ए-'आलम-ए-इम्काँ

अमीन-ए-'आलम-ए-इम्काँ

बहार-ए-'आलम-ए-इम्काँ

बाराँ-ए-रहमत

मार-ए-सर-ए-गंज

वो साँप जो खज़ाने के केंद्र में बैठ कर उसकी पहरेदारी करता है, कंजूस, लोभी

नख़्ल-ए-जाँ

मानव शरीर

ख़म-ए-चौगाँ

वो लकड़ी जिस से चौगान खेलते हैं, चौगान का बल्‍ला

हसरत-ए-सामाँ

जिसके पास ले- देकर केवल निराशा ही निराशा हो।

हज्ब-ए-हिरमाँ

कू-ए-बुताँ

महबूब का घर या गली-कूचा

आराम-ए-जाँ

जिसे देख कर हृदय को सुख पहुँचे

आसेब-ए-जाँ

नोक-ए-सिनाँ

नेज़े की नोक

मुल्क-ए-सुलैमाँ

हज़रत सुलेमान का मुलक, आबाद और ख़ुशहाल इलाक़ा

नूर-ए-जाँ

जीवन का प्रकाश, अर्थात: सौंदर्य श्रेष्ठता

पीर-ए-आसमाँ

गू-ए-गिरेबाँ

गले में लगाने की घुडी ।

कू-ए-जानाँ

प्रेमिका की गली, माशूक़ की गली

रंग-ए-गुलसिताँ

बगीचे का रंग

सर-ए-जुनूँ

पागलपना

ख़त-ए-रैहाँ

इब्ने मुक़ल्ला जिन्होंने छह लिपि का आविष्कार किया, उनमें से एक लिपि का नाम जिसे 'ख़त-ए-गुलज़ार' भी कहा जाता है इस लिपि में अक्षरों के बीच बेल-बूटे बने होते हैं

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में संग-ए-माही के अर्थदेखिए

संग-ए-माही

sang-e-maahiiسَن٘گِ ماہی

स्रोत: फ़ारसी

संग-ए-माही के हिंदी अर्थ

संज्ञा, पुल्लिंग

  • जलीय प्राणी के उस वंश को कहते हैं जिनकी पीठ पत्थर की भाँति कठोर होती है
  • एक प्रकार का पत्थर जो बड़ी मछली के सर से निकलता है और औषधि के काम में आता है
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

English meaning of sang-e-maahii

Noun, Masculine

  • the genus of aquatic animal whose back is hard like stone
  • a hard white stone found in the head of a fish

سَن٘گِ ماہی کے اردو معانی

اسم، مذکر

  • آبی جانوروں کے اس خاندان کو کہتے ہیں جِن کی پشت پتھر کی طرح سخت ہوتی ہے
  • وہ سخت و سفید پتھر جو بڑی مچھلی کے سر میں سے نکلتا ہے اور دوا کے کام آتا ہے، سنگ سر ماہی

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (संग-ए-माही)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

संग-ए-माही

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा