खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"न चूलहे में आग, न घड़े में पानी" शब्द से संबंधित परिणाम

न चूलहे में आग, न घड़े में पानी

बिलकुल मुफ़लिस और क़ल्लाश के मुताल्लिक़ कहते हैं

चुल्हे आग न घड़े पानी

बहुत ग़रीबी या कंगाली की स्थिति, बहुत दरिद्रता की दशा

'आलमगीर सानी, चूल्हे आग न घड़े पानी

यह कहावत ऐसे व्यक्ति के लिए कहते हैं जिस का नाम तो बहुत बड़ा हो परंतु अन्दर से खोखला हो, नाम के धनवान और स्थिति नष्ट, बहुत निर्धन है परंतु दावा एकाधिपत्य का है

आग भी न लगाऊँ

रुख़ करना या हाथ लगाना भी जुर्म है, किसी सूरत भी काबिल-ए-क़बूल नहीं. (किसी चीज़ से इंतिहाई नफ़रत ज़ाहिर करने के मौक़ा पर मुस्तामल)

पानी न माँगना

۔ झटपट मर जाना कि पानी मांगने का भी मौक़ा ना मिले। दफ़्फ़ातन मर जाना।

कर पानी न मुँह पानी

यह कहावत गंदे व्यक्ति के संबंधित कहते हैं, जो हाथ मुंह भी न धोए, ऐसा गंदा लड़का जो कभी न हाथ धोता है, न मुँह

वहाँ मारिए जहाँ पानी न मिले

रुक : वहां गर्दन मारीए अलख

वहाँ मारिए जहाँ पानी न हो

रुक : वहां गर्दन मारीए अलख

गाल में आग एक में पानी

रुक: एक गाल हंसना एक गाल रोना

पेट में पानी न पचना

पेट का हल्का होना। राज़ छिपाना सकना।

पानी में आग लगाना

पानी में आग लगाना

ऐसा काम (जो हर एक सेना होसके) करना

आग पानी में लगाना

कमाल चालाकी या हुनर दिखाना

आग में पानी डालना

झगड़ा मिटाना, लड़ाई को दबाना, ग़ुस्से को धीमा करना

हिल के पानी न माँगना

फ़ौरन मर जाना, बिल्कुल हिलने-डुलने में सक्षम न हो सकना, पानी माँगने तक को न हिल सकना, बिलकुल न तड़पना

उठ कर पानी न माँगना

बहुत दुर्बल होना, कमज़ोरी के बाइस न उठ सकना

वहाँ गर्दन मारिये जहाँ पानी न मिले

इस को निहायत सख़्त और संगीन सज़ा देनी चाहिए

वहाँ गर्दन मारिए जगाँ पानी न हो

इस को निहायत सख़्त और संगीन सज़ा देनी चाहिए

शिकम में पानी न पचना

पेट में पानी ना पचना, पेट का हल्का होना

जिस का काटा पानी न माँगे

पानी का घूँट गले से न उतरना

नज़ा की हालत में होना या किसी मर्ज़ की वजह से पानी का हलक़ से नीचे ना जाना , ग़म-ओ-ग़ुस्से के मारे पानी ना पिया जाना

जलती आग में पानी डालना

जलती आग में पानी डालना

रुक : जलती बुझा ना

वहाँ लटका के मारे जहाँ पानी न मिले

रुक : वहां गर्दन मारीए अलख

न तीन में, न तेरा में

किसी गिनती या शुमार में नहीं (किसी को बेवुक़त या लाताल्लुक़ ज़ाहिर करने के मौके़ पर कहते हैं

न लेने में , न देने में

जब कोई किसी के अच्छे बुरे में ना हो तो कहते हैं

गर्दन वहाँ मारे जहाँ पानी न मिले

थोड़ा भी दया के क़ाबिल, योग्य नहीं है, अत्याचारी दुष्ट और भ्रष्ट आदमी के संबंध में कहते हैं

आग पानी का संजोग

खड़े पानी न पीना

۔(ओ) ज़रा ना ठहरना। फ़ौरन चला जाना। निहायत नफ़रत या ख़फ़गी के मौक़ा पर मुस्तामल है।

खड़ा पानी न पीना

फ़ौरन चला जाना, ज़रा देर भी न ठहरना (घृणा या आक्रोश के अवसर पर प्रयुक्त)

बात जो चाहे अपनी पानी माँग न पी

इज़्ज़त इस में है कि दस्त सवाल किसी के सामने ना फैलाया जाये, क़नाअत और सब्र आबरू और बुजु़र्गी का वसीला है

आग लगे पर पानी कहाँ

ग़ुस्से के समय दया और प्रेम एवं ग़रज़ या इच्छा के वक़्त शर्म और ग़ैरत नहीं रहती

न-गुफ़्ता

बात जो ना कही गई हो, अनकहा, चुप, अकथित

जा ज़रूर में पानी न रखवाना

हक़ीर समझने के मौक़ा पर बोलते हैं, बहुत ना पसंद होना, निहायत बदशकल होने की वजह से नफ़रत होना, कोई काम ना कराना, नफ़रत ज़ाहिर करने को कहते हैं

न ख़ान में , न ख़ान के ऊँटों में

कोई हैसियत नहीं, किसी शुमार क़तार में नहीं

न-मा'लूम

ना जाने, क्या जाने, क्या मालूम , (रुक : नामालूम जिस की ये तख़फ़ीफ़ और बिगाड़ है

न-न करना

बार बार मना करना, इनकार किए जाना

न एक हँसता भला न एक रोता

तू देवरानी मैं जिठानी , तेरे आग न मेरे पानी

(ओ) दोनों मुफ़लिस और कंगाल हैं

न-वैकेंसी

(दफ़्तरी) किसी नौ की मुलाज़मत के लिए जगह ख़ाली नहीं है , कोई गुंजाइश नहीं है, कोई असामी ख़ाली नहीं है

न-तंदुरुस्त

बीमार, व्याधिग्रस्त, अस्वस्थ

न रोए रिहाई, न राह-ए-गुरेज़

ना रोय माँदन ना राह रफ़तन

न रहे बाँस न बजे बाँसुरी

फ़साद या परेशानी की जड़ काट देना, बुनियाद ही को मिटा देना बेहतर है

न में जलाऊँ तेरी, न तू जला मेरी

न मैं तुझे हानि पहुँचाऊँ न तू मुझे हानि पहुँचाए

घर में न समाना

न आए की , न गए की

आने जाने वालों की, किसी की कोई इज़्ज़त नहीं

न एक हँसता भला न एक रोता भला

जब तक दो चार आदमी किसी किसी दुख या सुख की समारोह में न हों मज़ा नहीं आता

न होगा बाँस , न बजेगी बाँसुरी

रुक : ना रहेगा बांस ना बजेगी बांसुरी

आँख में न आना

नज़रों में न जंचना, बेक़ीमत होना

आँख में न ठहरना

-

एक न एक

न चढ़े-गा , न गिरे-गा

ना तरक़्क़ी करेगा ना ज़वाल होगा, ऐसा काम क्यों करे जिस में नुक़्सान हो

मिज़ाज-ए-'आली, न तो शक न निहाली

जब कोई शख़्स मुफ़लिसी-ओ-तही दस्ती में नाज़ुक मिज़ाजी दिखाता है तो इस की निसबत तंज़न बोलते हैं मिज़ाज तो अमीराना रखते हैं मगर बिछा ने के लिए तोशक या नहा लुच्चा तक मयस्सर नहीं, ग़रीबी में अमीराना मिज़ाज रखने वाले पर तंज़न बोला जाता है

न निगली जाए, न उगली जाए

रुक : ना निगले बनती है ना अगले

न-फ़ितरती

न-फ़रेफ़्तगी

मोहित न होना, धोका न खाना

न साँप मरे न लाठी टूटे

इस प्रकार काम निकले कि किसी को हानि न पहुंचे, काम भी हो जाए और दोनों ओर से कोई हानि भी न हो, आपसी समझौता

न-बख़्ती

न पहुँचना

मुक़ाबला ना कर सकना, बराबरी ना कर सकना

हाँसी में खाँसी न हो जाए

ख़ुशी में रंज ना हो जाये

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में न चूलहे में आग, न घड़े में पानी के अर्थदेखिए

न चूलहे में आग, न घड़े में पानी

na chuulhe me.n aag, na gha.De me.n paaniiنَہ چُولھے میں آگ، نَہ گَھڑے میں پانی

कहावत

न चूलहे में आग, न घड़े में पानी के हिंदी अर्थ

 

  • बिलकुल मुफ़लिस और क़ल्लाश के मुताल्लिक़ कहते हैं
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

نَہ چُولھے میں آگ، نَہ گَھڑے میں پانی کے اردو معانی

 

  • بالکل مفلس اور قلاش کے متعلق کہتے ہیں

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (न चूलहे में आग, न घड़े में पानी)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

न चूलहे में आग, न घड़े में पानी

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words