खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"लाख जाए पर साख न जाए" शब्द से संबंधित परिणाम

लाख जाए पर साख न जाए

दमड़ी चली जाये पर चमड़ी ना जाये, पैसा चला जाये मगर इज़्ज़त बरक़रार रहे, जान जाये आन ना जाये

जान जाए पर आन न जाए

ख़ानदानी वक़ार ज़िंदगी से ज़्यादा अज़ीज़ होता है, यास वज़ा के लिए हयात जैसी मता अज़ीज़ क़ुर्बान की जा सकती है

जाए लाख रहे साख

कितना भी हानि हो, सम्मान बना रहे

जी जाए घी न जाए

जान जाये मगर आर्थिक हानि न हो

सर जाए बात न जाए

चाहे आदमी की जान चली जाये मगर जो कह चुका है इस का पाबंद रहना चाहिए

'इल्लत जाए 'आदत न जाए

बीमारी जाती रहती है मगर आदत नहीं बदलती

न निगली जाए, न उगली जाए

रुक : ना निगले बनती है ना अगले

ज़मीन पर जाए न होना

गुंजाइश या क्षमता न होना, काफ़ी न होना, कहीं ठिकाना न होना

चोर चोरी से जाए एरा फेरी से न जाए

किसी आदत के छूटने पर भी इस का कुछ ना कुछ असर बाक़ी रहता है , बरी आदत नहीं जाती

जाए-जाए

धरा जाए न उठाया जाए

बहुत जटिल है, बहुत पेचदार है

माँ-जाए

सौकन भुगती जाए और सौतेला न भुगता जाए

सोकन के मुक़ाबले में इस की औलाद से ज़्यादा दुख पहुंचता है

जाए'

क्षुधातुर, भूखा।

नज़र न हो जाए

बुरी दृष्टि न लगे, बुरी दृष्टि दूर ही रहे, ईश्वर बुरी दृष्टि से सुरक्षित रखे

हाँसी में खाँसी न हो जाए

ख़ुशी में रंज ना हो जाये

जाए'

चोर चोरी से जाए हेरा फेरी से न जाए

चलता-फिरता न मरे बैठा मर जाए

काहिल आदमी जल्दी मरता है, चलने फिरने वाला जल्द नहीं मरता, बहुत एहतियात करने वाला कभी कभी मर जाता है और एहतियात न करने वाला ज़िंदा रहता है

जाए गुज़राँ

न पाए माँदन , न जाए रफ़्तन

रुक : ना पाए रफ़तन ना जाये माँदन

न जाए माँदन, न पाए रफ़्तन

(फ़ारसी कहावत उर्दू में मुस्तामल) रुक : ना पाए रफ़तन ना जाये माँदन

न पाए रफ़्तन , न जाए माँदन

(फ़ारसी कहावत उर्दू में मुस्तामल) सख़्त मजबूरी, ना जा सकते हैं ना ठहर सकते हैं, जब कोई ऐसा मौक़ा आ पड़े कि कुछ करते धरते नहीं बना

न जाए रफ़्तन , न पाए माँदन

(फ़ारसी कहावत उर्दू में मुस्तामल) रुक : ना पाए रफ़तन ना जाये माँदन

ज़मीन टल जाए और ये न टले

ये बला तो आके रहेगी, ख़ाह कुछ हो, ये मुसीबत तो बहरसूरत नाज़िल होगी, ये शख़्स तो चाहे कुछ भी हो अपनी जगह से हल्लेगा नहीं, ये हुक्म तो हर सूरत में वाजिब उल-तामील है

मेंह जाए आँधी जाए

इस वक़्त बोलते हैं जब हर हाल में अपना काम करना हो और कोई मौसम और हालात की तकलीफ़ ख़ातिर में ना लाए

आँधी जाए मेंह जाए

चाहे कुछ भी हो, हर हालत में

जाए रफ़्तन न पाए माँदन

कहीं ऐसा न हो जाए

ख़िलाफ़-ए-तवक़्क़ो बात ना हो जाये उमूमन अंदेशे के मौक़ा पर बोलते हैं

या जाए हज़ारी या जाए बाज़ारी

मैले तमाशे में या तो अमीर आदमी जाये कि मैले की सैर करे या फ़क़ीर जाये कि सैर करने के इलावा कुछ मांग भी लाए, मेलों ठेलों में या तो अमीर जाते हैं या ओबाश लोग

मुँह टूट जाए

ब-जाए

जगह या स्थान पर अथवा बदले में, जगह या स्थान पर, बदले में, किसी की जगह पर, किसी के बदले

साँभर जाए , अलोना खाए

ऐसी जगह रहे जहां कोई चीज़ आम हो और ना मिले . इस शिकस् पर फ़िक़रा है जो इफ़रात की जगह रह कर भी इस चीज़ से महरूम रहे जिस की इफ़रात थी (साँभर - एक झील जिस से नमक बनाते हैं)

आँधी आए बैठ जाए, मेंह आए भाग जाए

थोड़ी सी तकलीफ़ जिसे झील सकेो तो झोल लो और ज़्यादा हो तो अलग हो जाओ

थाली फेंको तो सर पर जाए

तुम्हारी बात उठाई जाए न धरी जाए

रुक : तुम्हारी बात थल की ना बेड़े की

आए तो जाए कहाँ

व्यर्थ किसी एक बात के पीछे पड़ जाना

जाए गुज़र

जाने का स्थान, गुज़रने की स्थान, आने जाने का स्थान जहाँ स्थाई ठहरना न हो, सड़क, रास्ता

जाए गुल गुल बाश जाए ख़ार ख़ार

सर जाए बात रह जाए

चाहे आदमी की जान चली जाये मगर जो कह चुका है इस का पाबंद रहना चाहिए

मुँह टूट जाए

चेहरे पर चोट आए, शदीद दुख पहुंचे, शिकस्त खाए, बर्बाद हो

या जाए हज़ारी या जाए बज़ारी

मैले तमाशे में या तो अमीर आदमी जाये कि मैले की सैर करे या फ़क़ीर जाये कि सैर करने के इलावा कुछ मांग भी लाए, मेलों ठेलों में या तो अमीर जाते हैं या ओबाश लोग

खोजड़ाँ जाए

(कोसना) सत्यानास हो, ग़ारत हो

कहीं नज़र न लग जाए

(तंज़न) ऐसे शख़्स मी मज़म्मत या हजव जिस का फे़अल, मुतकल्लिम की तबीयत या तवक़्क़ो के ख़िलाफ़ हो

जाए-जूई

थाली फेंको तो सर पर चली जाए

मजाल है परिंदा पर मार जाए

किसी की जुरात नहीं कि दख़ल अंदाज़ी करसके

रले मिले पंचों रहे , जान जाए पर सच न कहे

पंचायत के साथ इत्तिफ़ाक़ रखना चाहिए चाहे झूओट् ही बोलना पड़े

साख गए फिर हाथ न आए

एतबार एक दफ़ा जाता है तो फिर नहीं आता

घर आए नाग न पूजे बानी पूजन जाए

घर आई दौलत छोड़कर दूसरी जगह तलाश में जाना, मौजूदा नफ़ा छोड़कर ग़ायब की उम्मीद पर जाना

आँख फूटे पीर जाए

चाहे आंख अंधी होजाए मगर रोज़ रोज़ के दुख से तो नजात मिले, एक दफ़ा जो नुक़्सान होना हो होजाए आए दिन के अज़ाब से तो जान छोटे

चले न जाए आँगन टेढ़ा

काम का सलीक़ा न होने के कारण दूसरे को दोष देना

आग में जाए

भाड़ में जाये, दफ़ा हो

चूल्हे में जाए

रुक: चूल्हे में पड़े

पापी का माल पराचत जाए, डंड भरे या चोर ले जाए

गुनहगार का माल या तो माफ़ कराने में ख़र्च होता है, या जुर्माना देने में या चोरी जाता है

ज़बान जल जाए

(शाप) ज़ुबान में आग लगे, ख़ुदा करे ज़ुबान झुलस जाए, कहने वाले की ज़ुबान को तकलीफ़ पहुंचे

ज़बान कट जाए

(बददुआ) ख़ुदा करे ज़बान ही कट कर गुज़रे, मुन में ज़बान ना रहे, अगर ऐसा कहा तो ख़ुदा करे ज़बान ही कट कर गिर जाये, मुराद : ऐसा हरगिज़ नहीं कहा

उड़ जाए

(ख़ुदा करे) मलियामेट हो जुए-ए-, तबाह-ओ-बर्बाद हो जुए-ए-(कोसने के तौर पर). यकबार अक़ल-ओ-होश का सब डिंग आड़ गया

खोजड़ा जाए

(श्राप) नाश हो, बर्बाद हो, सत्यानास हो जाए

साँझ जाए और भोर आए , वो कैसे न छिनाल कहलाए

जो औरत शाम को जाये और सुबह को आए वो बदचलन समझी जाती है जो सरीहन बद हो उसे बद ही कहा जाएगा

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में लाख जाए पर साख न जाए के अर्थदेखिए

लाख जाए पर साख न जाए

laakh jaa.e par saakh na jaa.eلاکھ جائے پَر ساکھ نَہ جائے

कहावत

लाख जाए पर साख न जाए के हिंदी अर्थ

  • दमड़ी चली जाये पर चमड़ी ना जाये, पैसा चला जाये मगर इज़्ज़त बरक़रार रहे, जान जाये आन ना जाये
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

لاکھ جائے پَر ساکھ نَہ جائے کے اردو معانی

  • دمڑی چلی جائے پر چمڑی نہ جائے ، پیسہ چلا جائے مگر عزّت برقرار رہے، جان جائے آن نہ جائے.

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (लाख जाए पर साख न जाए)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

लाख जाए पर साख न जाए

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words