खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"मेरे सर की क़सम" शब्द से संबंधित परिणाम

मेरे सर की क़सम

औरतें क़िस्म देते वक़्त कहती हैं

आप की ख़िफ़्फ़त मेरे सर आँखों पर

इस शख़्स को ज़्यादा शर्मिंदा करने के मौक़ा पर मुस्तामल जो अपनी बात से दिल ही दिल में पशेमान हो मगर ज़बान से अपनी बात की पिच करे

सर की क़सम

तुम्हारे सर की क़सम

सर की क़सम खाने का तरीक़ा (मिर्आतुल अरूस) मिज़ाजदार ने कहा तुम्हारे सर की क़सम चार ही आने को लिया है, यक़ीन मानो, सच्च है

सर की क़सम खाना

रुक : सर की क़सम देना

मेरे पूत की लंबी लंबी बाँहें

मेरे पूत की लम्बी लम्बी बाँहें

अपनी चीज़ सब को काबिल-ए-तारीफ़ और उम्दा मालूम होती है, अपनों की सब बड़ाई करते हैं , अपनी चीज़ की बहुत क़दर होती है

सर की क़सम देना

सर का वास्ता देना, जान का वास्ता देना

सर की क़सम दिलाना

सर का वास्ता देना, जान का वास्ता देना

सर की सूँ

मेरे लाला की उल्टी रीत सावन मास उठावें भीत

इस के मुताल्लिक़ कहते हैं जो बे मौक़ा काम करे, मेरे लाल का उल्टा काम है कि साइन के महीने में दीवार बनाता है, हमारे साहबज़ादे की मत ही निराली है कुछ पेश-ओ-पस नहीं सोचते

मेरे हाँ

मेरे मकान पर, मेरे घर

एक की टोपी एक के सर

मेरे यहाँ

मेरे मकान पर, मेरे घर

मियाँ की जूती मियाँ का सर

मियाँ का जूता हो और मियाँ ही का सर, आदमी अपने हाथों के किए से लाचार है

मेरे पूत की लम्बी लम्बी बाहें

अपनी चीज़ सब को काबिल-ए-तारीफ़ और उम्दा मालूम होती है, अपनों की सब बड़ाई करते हैं , अपनी चीज़ की बहुत क़दर होती है

मेरे लिये

मेरे वास्ते, मेरे हेतु, मेरी ख़ातिर

मेरे लिए

मेरे मुँह पर

मेरे मुँह से

सर की आफ़त टलना

आई हुई मुसीबत दूर होना, तकलीफ़ से निजात मिलना , फ़र्ज़ से सुबकदोशी हासिल होना

सर की बाज़ी लगाना

जान-निसार करना, जान दे देना, क़ुरबान होजाना

मेरे फ़रिश्ते

किरामन कातबीन की तरफ़ इशारा

मेरे आड़े आए

मुझे सज़ा मिले

मेरे आगे आए

मुझे सज़ा मिले

पाँव की जूती सर पर लगना

अदना और पस्त दर्जे वाले का आला से मुक़ाबला करना , बीवी का हावी होना

पाँव की ख़ाक सर पर आना

ज़लील-ओ-हक़ीर का शरीफ़ पर ग़लबा होना, जो हक़ीर-ओ-ज़लील हो इस का शरीफ़-ओ-आला पर ग़लबा पाना

पराए सर की बला लगाना

दूसरे की मुसीबत अपने सर लेना, दूसरे के लिए अपने को ज़हमत में डालना

पराए सर की बला लेना

मेरे ज़िम्मे

मेरे सर, मेरे सपुर्द, में जानों

मियाँ ही की जूती, मियाँ ही का सर

रुक : मियां का जूता हो और मियां ही का सर

मेरे नसीबों का

मेरी क़िस्मत में जो कुछ है

आप की शिकायत सर आँखों पर

इस जगह मुस्तामल जहां कोई किसी बात की शिकायत करे या इल्ज़ाम लगाए और इस की शिकायत बा इल्ज़ाम क़बूल कर के उज़्र करना मंज़ूर हो

मेरे मुँह में ख़ाक

जो मेरे जी में सो बामन की पोथी में

जो मेरे दिल में है वही तुम ने कहा

सारे ज़माने की बला सर लेना

सब झगड़े अपने ज़-ए-मै लेना, अपनी एहमीयत जताना

तबीले की बला बंदर के सर

हर बला और तहमत कमज़ोरों के सर थप जाती है

मेरे दोनों मीठे

۔ इस शख़्स की निसबत बोलते हैं जो दो शख्सों या दो चीज़ों को यकसाँ दोस्त रखता हो। इन दोनों में से किसी की जुदाई गवारा ना करता हो। ये मिसल उस जगह भी बोली जातीहे जब ये कहना हो। हर तरह फ़ायदा है किसी हालत में नुक़्सान नहीं।

मेरे मुँह में साँप काटे

औरतें क़िस्म खाते वक़्त कहती हैं, मेरा बुरा हो, मुझे सज़ा मिले

सर पाँव की ख़बर न होना

बिलकुल बेहोश और ग़ाफ़िल होजाना, होशोहवास बजा ना रहना

मेरे मुँह में ख़ाक

कोई बुरी बात कहने से पहले कहते हैं, मेरा बुरा हो

ज़बर्दस्त की लाठी सर पर

ज़बरदस्त का सब कहा मानते हैं

सर खुजाने की फ़ुर्सत न मिलना

अदीम अलफ़रसत होना, बहुत मसरूफ़ होना

मेरे फ़रिश्तों को

मुझे , किरामन कातबीन की तरफ़ इशारा

चल चख़े मेरे मुँह मत लग

(अविर) चल दूर हो, मेरे साथ बात मत कर (ग़ुस्से में एक औरत दूसरी को कहती है)

हिल न सकूँ मेरे सौ नख़रे

जो मांगे बहुत और काम कुछ ना करे, काहिल और हीला करनेवाली औरत के मुताल्लिक़ कहते हैं

मेरे बुढ़ापे पर करम कीजिए

मुझ ग़रीब पर रहम कीजीए और तकलीफ़ ना दीजीए बल्कि मेहरबानी से पेश आईए

जी की क़सम

बहुत ज़्यादा इसरार के लिए अपना वास्ता देना

जान की क़सम

बात मनवाने या अहम काम सरअंजाम दिलवाने के लिए बतौर ताकीद इस्तिमाल करते हैं

सर उठाने की फ़ुर्सत न होना

सर खुजाने की फ़ुर्सत न होना

सर खुजाने की फ़ुर्सत न मिलना

अदीम अलफ़रसत होना, बहुत मसरूफ़ होना

हुए फेरे चूमे मेरे

शादी हो जाये तो बाप का बेटी के साथ कोई ताल्लुक़ नहीं रहता

बंदर की बला तवेले के सर

किसी की ज़िम्मेदारी या मुसीबत दूसरे के सर पर आन पड़ने के अवसर पर प्रयुक्त

तवीले की बला बंदर के सर

क़सूर किसी का और मारा कोई जाये, मुसीबत किसी और की और सर पड़ी किसी दूसरे के (कहते हैं जिस तवीले में बंदर होता है वहां दूसरे चौपाए हर मुसीबत और बला से महफ़ूज़ रहते हैं और सारी बुलाया मुसीबत बंदर के सर आ पड़ती है

मेरे साथ ज़िद है

۔ उम्दन मेरे ख़िलाफ़ काम करता है।

क़ुरआन की क़सम

में कलाम पाक की क़सम खाता हूँ

लहू की क़सम

सर की सुध न पाँव की बुध

कुछ होश नहीं, ला पर्वा आदमी है, हालत ख़राब है

ख़ुदा की क़सम

बख़ुदा, अल्लाह की क़सम, ख़ुदा की सोऊं, अल्लाह को हाज़िर-ओ-नाज़िर जान कर किसी चीज़ के मुताल्लिक़ कहना

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में मेरे सर की क़सम के अर्थदेखिए

मेरे सर की क़सम

mere sar kii qasamمیرے سَر کی قَسَم

वाक्य

मेरे सर की क़सम के हिंदी अर्थ

 

  • औरतें क़िस्म देते वक़्त कहती हैं
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

میرے سَر کی قَسَم کے اردو معانی

 

  • عورتیں قسم دیتے وقت کہتی ہیں ۔

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

सुझाव दीजिए (मेरे सर की क़सम)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

मेरे सर की क़सम

चित्र अपलोड कीजिएअधिक जानिए

नाम

ई-मेल

प्रदर्शित नाम

चित्र संलग्न कीजिए

चित्र चुनिए
(format .png, .jpg, .jpeg & max size 4MB and upto 4 images)
बोलिए

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा

Want to show word meaning

Do you really want to Show these meaning? This process cannot be undone

Recent Words