खोजे गए परिणाम

सहेजे गए शब्द

"माथे का टीका है" शब्द से संबंधित परिणाम

माथे का टीका है

हरवक़त सामने है, किसी वक़्त भी टलता नहीं

चाँद का टीका

कलौंस का टीका

माथे का अलिफ़

जंग का टीका

माँग-टीका

माँग सजाने वाला एक आभूषण, माँगफूल

नज़र बट्टू का टीका

टीका चढ़ना

तख़तनशीनी की रस्म अदा होना

माथे मढ़ना

माथे की बिंदी

आँच का खेल है

(बावर्चियों और कीमिया गुरों वग़ैरा की बोल चाल) जब कई चीज़ पकाने या तपाने में बिगड़ जाती है तो कहते हैं ये तो आंच का खेल है यानी ज़रा आंच कड़ी हो गई, तो ख़राबी और ज़रा आंच धीमी हुई तो ख़राबी . मतलब ये है कि नाज़ुक और मुश्किल काम है

माथे चढ़ाना

सर आँखों पर बिठाना, निहायत ताज़ीम-ओ-तकरीम करना

ऐसा कहाँ का है

रात माँ का पेट है

मुँह किस का है

कहाँ का इरादा है

(इरादा की जगह इरादे भी प्रयुक्त है) कहाँ का मक़सद है, किधर जाते हो, कहाँ चले

फूँस का तापना है

बेबुनियाद काम है, चंद रोज़ा ख़ुशी है, बेफ़ाइदा उम्मीद करना

आप का घर कहाँ है

जो शख़्स बेवक़ूफ़ों की सी बातें करता है इस से कहते हैं मतलब ये होता है कि आप बड़े नादान हैं

ये ज़माना का हाल है

ये ज़माने का हाल है

इस ज़माने के लोगों को बुरा हाल है, किसी अफ़सोस के मौक़ा पर मुस्तमिल

किस का मुँह है

किस की मजाल है

आप का मुँह है

आप का पास है

माथे पर चढ़ना

दो उँगलियाँ माथे पर रखना

सरसरी सलाम करना, लापरवाही से सलाम करना

जोरू का मरना घर का ख़राबा है

पत्नी के मरने से घर उजड़ जाता है

मुफ़्लिस का माल है

सस्ता माल है कोड़ीयों के मूल है, अर्ज़ां माल है (बेचने वालों की आवाज़) ख़रीदार सस्ता समझ ख़रीद लीं

कल का ज़िक्र है

टके का ज़हूरा है

दौलत की रोशनी है, पैसे का सारा खेल है

ख़ुदा का नाम है

अल्लाह मालिक है यानी कुछ डर नहीं है

आप का मुलाहज़ा है

रुक : आप का पास है

नौकरी क्या है ख़ाला जी का घर है

रुक : नौकरी ख़ाला जी का घर नहीं

ये किस का मूत है

(हक़ार ता) ये किस का नुतफ़ा है, ये किस का नुतफ़ा-ए-बद है, ये किस का जाया है

तिनके का एहसान बहुत है

किसी का ज़रा सा एहसान और उपकार भी स्वाभिमानी के लिए बहुत होता है, किसी के थोड़े से व्यवहार का भी बहुत एहसास होता है

इंसान ख़ता का पुतला है

हांडी का सा उबाल है

अभी शौक़ है कुछ देर में जाता रहेगा

ख़ाला का रुत्बा माँ के बराबर है

गाँडू का हिमायती भी हारा है

(फ़हश बाज़ारी) कम हौसला और नामर्द का तरफ़दार भी ज़क उठाता है, बोदे का साथी भी शर्मिंदगी उठाता है, नालायक़ और कमीने का साथ देना दाख़िल हमाक़त है

राजा का परचाना और साँप का खिलाना बराबर है

बादशाहों और हुकमरानों की मुसाहिबत में हरवक़त ख़तरा होता है

माथे पर अलिफ़ खींचना

साधु, संत हो जाना, मुक्त होना, आज़ाद हो जाना

मुर्ग़ी को तकले का घाओ बहुत है

۔मिसल ग़रीब को थोड़ा नुक़्सान भी बहुत है।कमज़ोर को थोड़ा सदमा भी बहुत है।(मुहसिनात)बढ़िया हरियाली और कोठरी की दीवार में आकर बच गई मगर वही मिसल है मुर्ग़ी को तकले ही का घाओ बहुत होताहै दोतीन दोहतड़ जो इस पर जमे सिसकियां लियेने लगी

माथे पर बल पड़ना

चीं बजीं होना,गु़स्सा होना, नागवारी का इज़हार करना

खिलोना है भोले भालों का

खिलौने बेचने वालों की सदा यानी मासूम बच्चों के लिए है

मौसी का घर नहीं है

ख़ाला जी का घर नहीं है , आसान काम नहीं है , खेल नहीं है , किसी की तनआसानी और लापरवाई को देख कर कहते हैं

आसमान का थूका मुँह पर आता है

उच्च स्तर पर किसी भी प्रकार का हमला करने से निम्न स्तर की अपमान होती है, पवित्र को बदनाम करने वाला ख़ुद ही बदनाम होता है

हज़ारी का राछ है

बड़ा शरीर है, बदज़ात है , हीलाबाज़ है , होशयार है

मुफ़्त का शिकार है

बे मशक़्क़त हासिल होने वाली चीज़ के मुताल्लिक़ कहते हैं

ज़िद का पूरा है

अपनी हठ नहीं छोड़ता, अपनी बात मनवा कर रहता है

खिलाए का नाम नहीं, रुलाए का नाम हैं

हसन-ए-सुलूक और हसन-ए-ख़िदमत की कोई दाद नहीं देता मगर बुरी बात की फ़ौरन गिरिफ़त हो जाती है

क़िस्मत का सारा खेल है

भलाई और बुराई सब क़िस्मत से होती है

धूनी पानी का संजोग है

सख़्त मुख़ालिफ़त है

दुनिया का यही कारख़ाना है

ऐसे अवसर पर कहते हैं जहाँ ये कहना होता है कि दुनिया को एक स्थित पर धैर्य नहीं

सख़ी का सर बलंद है

सख़ावत से बड़ी इज़्ज़त है

आगे ख़ुदा का नाम है

वहाँ बोला जाता है जहाँ कोई चीज़ इस तरह बढ़ी हुई हो कि ईश्वर के सिवा कोई न हो, ईश्वर के नाम के सिवा कुछ भी नहीं, इससे अधिक कुछ नहीं कहा जा सकता, अब अंत है, बस अंत है, इस से आगे कुछ नहीं

क्या मुँह का निवाला है

क्या कोई आसान काम है, ये काम मुश्किल है देर तलब है, ये काम कुछ आसान नहीं है

माथे पर अफ़्शाँ चुनना

माथे पर सुनहरे सितारे जमाना, महिलाएं सुंदरता के लिए ऐसा करती हैं

ये नौकरी है ख़ाला जी का घर नहीं

नौकरी में वक़्त की पाबंदी और हाज़िरी ज़रूरी है (ज़ाबते की पाबंदी ना करने पर कहते हैं), ये नहीं कि जब मर्ज़ी हुई चले गए, गोया कि बेतकल्लुफ़ी का मिलना हो

चियूँटियों को मौत ही का रेला बस है

क्या सुरख़ाब का पर लगा है

क्या आप को कोई फ़ज़ीलत-ए-ख़ास हासिल हुई है, क्या कोई निराली या नायाप चीज़ है

माथे टीका होना

किसी ख़ास किस्म का फ़ख़र होना, सुर्ख़ाब पर होना

साँडे का तेल बेचते हैं

उस व्यक्ति के लिए कहते हैं जो ऐसी बातें करे जिनसे जानवरों का शक्ति का उकसावा हो

हिन्दी, इंग्लिश और उर्दू में माथे का टीका है के अर्थ

माथे का टीका है

maathe kaa Tiikaa haiماتھے کا ٹِیکا ہے

सुझाव दीजिए (माथे का टीका है)

नाम

ई-मेल

प्रतिक्रिया

वाक्य

माथे का टीका है के हिंदी अर्थ

 

  • हरवक़त सामने है, किसी वक़्त भी टलता नहीं
rd-app-promo-desktop rd-app-promo-mobile

ماتھے کا ٹِیکا ہے کے اردو معانی

 

  • ہر وقت سامنے ہے، کسی وقت بھی ٹلتا نہیں.

सूचनार्थ: औपचारिक आरंभ से पूर्व यह रेख़्ता डिक्शनरी का बीटा वर्ज़न है। इस पर अंतिम रूप से काम जारी है। इसमें किसी भी विसंगति के संदर्भ में हमें dictionary@rekhta.org पर सूचित करें। या सुझाव दीजिए

संदर्भग्रंथ सूची: रेख़्ता डिक्शनरी में उपयोग किये गये स्रोतों की सूची देखें .

Delete 44 saved words?

क्या आप वास्तव में इन प्रविष्टियों को हटा रहे हैं? इन्हें पुन: पूर्ववत् करना संभव नहीं होगा